किसान क्रेडिट कार्ड बनवाना है आसान, सिर्फ इन डॉक्यूमेंट्स की होगी जरूरत

kisan-credit-card

अगर आप समय से पैसा जमा करने की क्षमता रखते हैं तो किसान क्रेडिट कार्ड पर लोन लेकर खेती कर सकते हैं. सबसे खास बात यह है कि दूसरे क्रेडिट कार्ड के मुकाबले इसमें ब्याज भी कम चुकाना पड़ता है.

किसानों के कर्ज को कम करने के लिए सरकार कई अहम कदम उठा रही है. हाल ही में सरकार ने खेती-किसानी के लिए 12 करोड़ किसानों को सालाना 6000 रुपए की सहायता दी. इसके अलावा सरकार किसान क्रेडिट कार्ड (केसीसी) के जरिए लोन लेना भी किसानों के लिए आसान कर दिया. अब किसान क्रेडिट कार्ड बनवाना काफी आसान है. 

कार्ड पर मिलता है लोन

अगर आप समय से पैसा जमा करने की क्षमता रखते हैं तो किसान क्रेडिट कार्ड पर लोन लेकर खेती कर सकते हैं. सबसे खास बात यह है कि दूसरे क्रेडिट कार्ड के मुकाबले इसमें ब्याज भी कम चुकाना पड़ता है. 3 लाख रुपए तक का कर्ज सिर्फ 7 फीसदी की ब्याज दर पर मिलता है. वहीं, समय से पैसा लौटाने वाले को 3 फीसदी की अतिरिक्त छूट भी दी जाती है. इस तरह सिर्फ 4 फीसदी ब्याज ही चुकाना होता है.

हर किसान पर 47000 रुपए का कर्ज

लोकसभा में पेश एक रिपोर्ट के मुताबिक, देश के हर किसान पर औसतन 47000 रुपए का कर्ज है. इसमें साहूकारों से लिया कर्ज भी शामिल है. पैसा न लौटा पाने की स्थिति में किसान आत्महत्या के लिए मजबूर होते हैं. वहीं, केसीसी ने उनकी जिंदगी आसान बनाया है. किसानों को कम ब्याज पर कर्ज मुहैया कराने के लिए सरकार ने वर्ष 1998 में किसान क्रेडिट कार्ड स्कीम लॉन्च की थी. इसका फायदा आज 7 करोड़ से ज्यादा किसानों को मिल रहा है.

पहले जटिल थी प्रक्रिया

लोकसभा में पेश रिपोर्ट के मुताबिक, पहले किसान क्रेडिट कार्ड पर लोन लेने की प्रक्रिया काफी मुश्किल थी. यही वजह है कि देश के 14 करोड़ किसान परिवारों में से सिर्फ 7 करोड़ के पास ही किसान क्रेडिट कार्ड है. अब सरकार ने इसके नियमों को सरल बनाया है. अब बैंक सिर्फ 3 डॉक्यूमेंट्स पर लोन जारी करते हैं.

क्या देखते हैं बैंक

लोन देने से पहले बैंक आवेदक की सत्यापन किया जाता है. इसमें देखा जाता है कि वो किसान है भी या नहीं. फिर उसका राजस्व रिकॉर्ड चेक किया जाता है. पहचान के लिए आधार, पैन और फोटो ली जाती है. इसके बाद एक एफीडेविट लिया जाता है कि किसी और बैंक पर तो बकाया नहीं है.

फीस और चार्ज में दी छूट

सरकार ने किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने पर लगने वाली फीस और चार्ज में भी छूट दी है. दरअसल, केसीसी बनवाने में 2 से 5 हजार रुपए तक का खर्च आता है. सरकार के निर्देश पर इंडियन बैंक एसोसिएशन ने एडवाइजरी जारी कर बैंकों से फीस और चार्ज में छूट देने को कहा था.

कौन ले सकता है केसीसी

1- खेती-किसानी, मछलीपालन और पशुपालन से जुड़ा कोई भी व्यक्ति किसान क्रेडिट कार्ड लेने का पात्र है,
2- किसान अपनी, किसी और की जमीन पर खेती करता हो तो भी इसका लाभ ले सकता है,
3- न्यूनतम उम्र 18 साल और अधिकतम 75 साल होनी चाहिए,
4- किसान की उम्र 60 साल से अधिक है तो एक को-अप्लीकेंट भी लगेगा, जिसकी उम्र 60 से कम हो,
5- किसान के फॉर्म भरने के बाद बैंक कर्मचारी देखेगा कि आप इसके लिए योग्य हैं या नहीं,
6- पशुपालन और मछलीपालन भी इसके तहत 2 लाख रुपये तक का कर्ज मिल सकेगा,

बस इसके बाद आपको किसान क्रेडिट कार्ड इश्यू हो जाएगा |

संपर्क

अधिक जानकारी के लिए हमसे संपर्क करें +91 9430502802 ( डॉ अविनाश कुमार )

आप नीचे उपलब्ध व्हाट्सएप्प आइकॉन पर क्लिक करके हमे सीधा अपना सन्देश भी भेज सकते है।

Become our Distributor Today!

Get engaged as our distributor of our high quality natural agricultural products & increase your profits.

Translate »

Pin It on Pinterest

Share This