बारिश के भरोसे नहीं रहेगी खेत की सिंचाई, कम कीमत पर इरीगेशन सिस्टम लगाएं

बारिश के भरोसे नहीं रहेगी खेत की सिंचाई, कम कीमत पर इरीगेशन सिस्टम लगाएं योजना का फायदा लेने वाले किसान के पास अपनी जमीन और सिंचाई के पानी का स्रोत होना चाहिए। देश की बड़ी आबादी खेती-किसानी पर निर्भर है हमारी 80 फीसदी खेती बारिश के भरोसे है कहीं ज्यादा बारिश तो कहीं...

खेती ही बचाएगी भारतीय अर्थव्यवस्था को

खेती ही बचाएगी भारतीय अर्थव्यवस्था को लॉकडाउन के कारण देश भर में अपने-अपने घरों में बंद लोगों के लिए एक ही सबसे बड़ी जरूरत है। वह है भोजन की, और वह भी एक बार नहीं, बल्कि तीन बार। चाहे अमीर आदमी हो, जो अपने घर में आराम से बैठा हुआ रोज अलग-अलग व्यंजन बनाने के तरीके...

घर में बागवानी

घर में बागवानी आप अपने घर, बालकनी में या छत पर गमलों में ये साग-सब्जियां उपजा सकते हैं। बीज, खाद या कीटनाशक की जरूरत नहीं है। टमाटर: टमाटर उगाना बेहद आसान है। जो टमाटर हम घर में खाते हैं, उसी को सलाद की तरह स्लाइस (टुकड़ों) में काट दें और गमले के अंदर मिट्टी में दबा...

सफ़ेद चन्दन और औषधीय पौधों की खेती

सफ़ेद चन्दन और औषधीय पौधों की खेती तकनीक और जानकारी बढ़ने के साथ अब किसान भी पारम्परिक खेती को छोड़ कर आधुनिक खेती और अनाज के साथ ही सफ़ेद चन्दन , औषधीय पौधों और जड़ी-बुंटियों की खेती कर रहे है। इससे न केवल उनके खेतों की मिट्टी की उपजता बढ़ रही है बल्कि अच्छी-खासी आमदनी भी...

जिंक और औषधीय गुणों से भरपूर है डीआरआर-45 धान

जिंक और औषधीय गुणों से भरपूर है डीआरआर-45 धान बाबूबरही प्रखंड (बिहार) में बसा है गांव छौरही। इस गांव के किसान डीआरआर धान 45 की जैविक विधि से खेती कर रहे हैं। शबला सेवा संस्थान गोरखपुर के सहयोग से यह खेती की जा रही है। इस धान के चावल में अन्य सामान्य चावल की तुलना में...

कृषि जगत: रासायनिक खाद से मिट्टी में पोषक तत्वों की कमी

कृषि जगत: रासायनिक खाद से मिट्टी में पोषक तत्वों की कमी वर्तमान में रासायनिक खाद का प्रयोग हमारी खेती में अधिक हो रहा है। इसके प्रयोग से दूरगामी परिणाम अच्छे नहीं है।  रासायनिक खाद और कीटनाशक के प्रयोग से खेत की भूमि में अधिक पानी की जरूरत होती है। दूसरी ओर जैविक खाद...
Translate »

Pin It on Pinterest